भूगर्भ जल विभाग

उत्तर प्रदेश सरकार

रिचार्ज वेल विधा के लिए मॉडल डिजाइन

ऐसे क्षेत्रों में जहाँ top layer clay (चिकनी मिट्टी) impervious एवं उसकी मोटाई अपेक्षाकृत अधिक हो तथा एक्यूफर की गहराई 25 से 30 मी0 अथवा अधिक हो, वहाँ‘रिचार्ज वेल विधा को आवश्यकतानुसार अपनाया जाना सबसे उपयुक्त रहेगा।

बहुमंजिला भवनों व बड़ी छत वाले (400-1000 वर्ग मी0 अथवा अधिक) भवनों के लिए सामान्यतः यह तकनीक उपयुक्त रहती है। विशेषकर जहाँ जगह सीमित हो और जल स्तर गहरा हो। कम क्षेत्रफल यथा 100, 200, 300 वर्ग मी0 की छतों हेतु भी इस विधा को अपनाया जा सकता है।

इस तकनीक से stressed aquifer (संकटग्रस्त एक्यूफर) को सीधे रिचार्ज कराया जा सकता है। इस विधा में रिचार्ज संरचना के अन्तर्गत छतों से प्राप्त वर्षा जल piped conveyance network के माध्यम से सर्वप्रथम फिल्टर चेम्बर में पहुँचेगा। यहां से पानी छनकर क्रांकीट के स्टोरेज टैंक में पहुँचेगा। इसमें निर्मित रिचार्ज वेल में वर्षा जल slotted pipe/स्ट्रेनर से होकर सीधे एक्यूफर को रिचार्ज करेगा।

स्टोरेज टैंक व फिल्टर चेम्बर के साइज का निर्धारण छत से उपलब्ध होने वाले वर्षा जल की मात्रा पर निर्भर करेगा। इन स्टोरेज टैंक व फिल्टर चैम्बर की जल संग्रहण क्षमता storage capacity रिचार्ज वेल की गहराई व व्यास, एक्यूफर की मोटाई एवं granularity तथा रिचार्ज दर पर भी निर्भर करेगी। इन factors के आधार पर स्टोरेज टैंक व फिल्टर चैम्बर का साइज बढ़ाया-घटाया जा सकता है। फिल्टर सामान्यतः graded होना चाहिए, जिसमें नीचे बोल्डर/पेबिल, बीच में ग्रेवल व ऊपर मौरंग की कुल तीन परते रखी जानी चाहिए, किन्तु पी-ग्रेवल को प्रमुख फिल्टर सामग्री के रूप में प्रयुक्त किया जा सकता है, ताकि फिल्टर माध्यम की प्रतिवर्ष आसानी से सफाई कराई जा सके।

यह तकनीक रिचार्ज स्ट्रक्चर की दीर्घकालिक आयु एवं रखरखाव की दृष्टि से व्यवहारिक पायी गयी है, अतः इस विधि को अधिकांश भवनों में लागू किया जा रहा है। इस तकनीक में wire mesh, overflow व्यवस्था, by-pass system, उपयुक्त screen/slot की आवश्यकता पर विशेष ध्यान रखा जाता है।

Recharge/storage tank व filter chamber में वर्षा जल संग्रहण की व्यवस्था हेतु water storage volume की गणना सामान्य मानसून वर्षा के अनुपात में roof catchment के क्षेत्रफल एवं अन्य पैरामीटर्स के आधार पर की जाती है।