Ground Water Department

Government of Uttar Pradesh

Status and Figures: 31 March, 2004

भूजल विकास की दृष्टि से उत्तर प्रदेश में वर्गीकृत अतिदोहित/क्रिटिकल एवं सुरक्षित विकास खण्डों की स्थिति (31 मार्च, 2004 के आंकड़ों पर आधारित)

भूगर्भ जल विभाग द्वारा प्रदेश में भूगर्भ जल उपलब्धता का विकासखण्डवार आंकलन 31 मार्च, 2004 के आंकड़ों को आधार मानकर किया गया है, जिसमें जी0ई0सी0-97 के मापदण्डों का अनुपालन किया गया है। इस आंकलन/आगणन में विकासखण्डवार भूजल विकास की स्थिति ज्ञात करने हेतु जी0ई0सी0-97 द्वारा निर्धारित प्रक्रिया अपनायी गयी है। इसके अध्ययन के अन्तर्गत प्रदेश के 820 विकास खण्डों में भूगर्भ जल विकास की स्थिति के आधार पर विकास खण्डों को निम्नानुसार वर्गीकृत किया गया है -


क्र० सं० विकास खण्डों की श्रेणी वर्गीकृत विकास खण्डों की संख्या
1. अतिदोहित 37
2. क्रिटिकल 13
3. सेमी-क्रिटिकल 88
4. सुरक्षित 682
  योग - 820

क्र० सं०

मण्डल / जनपद विकास खण्ड
अतिदोहित क्रिटिकल
1 2 3 4
मण्डल : आगरा
1.

आगरा
1. बरौली अहिर
2. शमसाबाद
-
-
2. फिरोजाबाद
-
1. फिरोजाबाद
3. हाथरस
1. सादाबाद
2. सहपऊ
3. सासनी
 हाथरस
4. मथुरा
1. नौझील
-
5. एटा
1. कासगंज
2.  मरेहरा
3. सकीट
मण्डल : बरेली
6. बरेली
1. आलमपुर- जाफराबाद
1. मीरगंज
7. बदायूँ
1. अम्बियापुर
2. आसफपुर
3. बिसौली
4. जगत
5. जुनावाई
6. राजपुरा
7. साहासवान
8. सलारपुर (बिनावार)
9. वजीरगंज
1. दहगाँवा
2. इस्लामनगर
3. म्याँऊ
8. शाहजहाँपुर - 1. कलान